भईल समाज अपाहिज: अनिल सर्राफ

0
79

स-समाज के बात छोड़
बात भईल बरियारी के

पार्टी पौलेसी के गांव जवार भईल
अब रह ना गईल यारी के

प्यार मुहबब्त अब नईखे
कमी बा समझदारी के

बिकास वाला काम भुला गईलबा
कमी बा सामाजिक अज्ञकारी के

सुख शांति से केहु नईखे
कुछ लोग लडावे भयारी के

चटक मटक रंगदारी बढल बा
जईसे ओठ पे ओठलाली के

हिसकई से सब काम भडाता
अब होत ना बा जाईज

कुछ लोग के चलते
समाज भईल बा अपाहिज

 

अनिल सर्राफ, कलेया बारा जीला, नेपालके रहनियार हई

Previous articleबीरगञ्जको होटलमा क्वारेन्टीन बस्नेको यस्तो छ पिडा
Next articleप्रतिवद्धता पत्र जलाएर गहवाबासीहरुले महानगरपालिकाको यो कदमको घोर विरोध गरे (भिडियो सहित)